मध्य प्रदेश

छुट्टियां खत्म, मंगलवार को प्रवेश उत्सव मनाया


किसी स्कूल में बच्चे ही नही पहुंचे, तो कही शिक्षक विहीन शाला में अतिथि शिक्षक ने ही प्रवेश उत्सव मनाया
सिलवानी। मंगलवार से नए शिक्षा सत्र का शुभारंभ किया गया है। ग्रीष्म कालीन अवकाश के बाद शैक्षणिक गतिविधियां पुन प्रारंभ हुई है। प्रदेश सरकार द्वारा स्कूली शिक्षा से कोई भी बच्चा वंचित न रह जाए, इसके लिए सभी 14 साल तक के बच्चों का प्रवेश कराने के लिए प्रवेश उत्सव का आयोजन मंगलवार 18 जून से किया जा रहा है। चार दिन के इस प्रवेश उत्सव में खास तौर से ऐसे बच्चों पर फोकस किया जाएगा जो स्कूल नहीं जाते।
विशेष भोज का आयोजन हुआ
प्रवेश उत्सव के पहले दिन शालाओं में विशेष भोजन का वितरण भी किया गया। इस संबंध में शाला प्रबंधनों को आवश्यक निर्देश जारी किए गए थे। प्रवेश उत्सव के दौरान बच्चों को नि:शुल्क पाठ्य पुस्तकों का भी वितरण भी किया गया।
शासकीय माध्यमिक शाला देवरी (मढिया) में प्रधान अध्यापक धर्मदास कुशवाहा ने सभी बच्चो का तिलक कर स्वागत किया एवं पाठ्यपुस्तको का वितरण किया।
शासकीय प्राथमिक विद्यालय मनकापुर में भवन में दो शिक्षक आराम फरमा रहे थे, तो शिक्षक की बाइक भी स्कूल भवन में ही खड़ी हुई थी और बच्चे नदारद थे।
शासकीय प्राथमिक विद्यालय तेंदूखेड़ा में शिक्षक विहीन है, इस संस्था में पूर्व में कार्यरत अतिथि शिक्षक ने प्रवेश उत्सव मनाया । संस्था में दर्ज 6 बच्चो में से 5 उपस्थित थे।
तेंदूखेड़ा प्राथमिक शाला शिक्षक विहीन है यह पर कोई भी स्थाई शिक्षक न होने के कारण प्राथमिक शाला में अव्यवस्थाओं का अंबार लगा हुआ है। शौचालय के अंदर गेट नहीं है पीने के पानी, बिजली का अभाव है, यहां पर एक मात्र अतिथि शिक्षक के भरोसे शिक्षा दी जा रही है।

Related Articles

Back to top button