व्यापार

IIFL होम फाइनेंस भारत की लीडिंग अफोर्डेबल हाउसिंग फाइनेंस कंपनी बनी, जिसका AUM ₹35,000 करोड़ के पार पहुंचा और PAT में सालाना आधार पर 32% की बढ़ोतरी

प्रमुख बिजनेस और फाइनेंशियल मैट्रिक्स
• 27,400 करोड़ से अधिक के कुल AUM में होम लोन का योगदान 77.29% है
• सभी लोन के लिए औसत टिकट आकार (ATS) ₹14.26 लाख रहा। होम लोन के लिए ATS ₹15.28 लाख है
• डिस्बर्समेंट वॉल्यूम वित्त वर्ष 2023 में ₹ 10,061 करोड़ था जो वित्त वर्ष 2024 में 28% बढ़कर 12861 हो गया
• एक्टिव कस्टमर बेस वित्त वर्ष 2023 में 202885 था जो वित्त वर्ष 2024 में बढ़कर 281514 हो गया
• 31 मार्च, 2024 तक 80% से अधिक होम लोन ग्राहकों में महिला उधारकर्ता और सह-उधारकर्ता शामिल हैं
• 17 राज्यों में करीब 400 शाखाएं
• FY23 में 3.9% की तुलना में FY24 में ROA 4.4% रहा
• 42.7% के पूंजी पर्याप्तता अनुपात (capital adequacy ratio) के साथ वित्त वर्ष 2024 में 16.9% का हेल्दी ROE
• वित्त वर्ष 2024 में AUM पर यील्ड 12.6% रही, जबकि वित्त वर्ष 2023 में यह 11.8% थी
• NIMs वित्त वर्ष 2023 में 6.5% से बढ़कर वित्त वर्ष 24 में हेल्दी 7.3% तक बढ़ गया
20 मई, 2024 IIFL होम फाइनेंस लिमिटेड (IIFL HFL) का एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) वित्त वर्ष 2023 में ₹28,512 करोड़ था जो वित्त वर्ष 2024 में बढ़कर ₹35,499 करोड़ हो गया। ये सालाना आधार (YoY) पर 25% की ग्रोथ है। इससे ये ₹14.26 लाख के औसत टिकट आकार के साथ भारत की सबसे बड़ी अफोर्डेबल हाउसिंग कंपनी बन गई है।
6 मई, 2024 की एक्सचेंज रिपोर्टिंग के अनुसार, अबू धाबी इन्वेस्टमेंट्स अथॉरिटी (ADIA) की 20% से अधिक शेयरहोल्डिंग वाली कंपनी के ऑपरेशन से रेवेन्यू FY23 में ₹2,712 करोड़ था जो FY24 में बढ़कर ₹3,317 करोड़ हो गया। ये सालाना आधार (YoY) पर 23% की ग्रोथ है।
प्रॉफिट आफ्टर टैक्स में सालाना आधार पर 32% की बढ़ोतरी देखने को मिली है। FY23 में प्रॉफिट आफ्टर टैक्स ₹768 करोड़ था जो FY24 में बढ़कर ₹1017 करोड़ हो गया।
NIM’s में 80 बीपीएस का सुधार देखा गया है। 42.7% के पूंजी पर्याप्तता अनुपात (capital adequacy ratio) के साथ वित्त वर्ष 2024 में ये मजबूत होकर 7.3% हो गया। 2023 में ये 6.5% था।
ग्रॉस एनपीए में भी 60 बीपीएस से अधिक का सुधार देखा गया है। वित्त वर्ष 2023 में ये 2.1% था जो वित्त वर्ष 2024 में 1.5% हो गया। देश की सभी अफोर्डेबल हाउसिंग कंपनियों के बीच कंपनी का लागत-आय अनुपात सबसे कम है।
IIFL होम फाइनेंस के ED और CEO मोनू रात्रा ने कहा, “IIFL होम फाइनेंस पहली बार घर खरीदने वालों और महिला उधारकर्ताओं/सह-उधारकर्ताओं पर ध्यान देने के साथ, विशेष रूप से EWS और LIG सेगमेंट के लिए किफायती होम लोन प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। ऑपरेशनल एक्सीलेंस और टेक्नोलॉजी आधारित समाधानों पर हमारे फोकस के कारण न केवल AUM में ग्रोथ हुई है, NIMs में बढ़ोतरी हुई है, क्रेडिट कॉस्ट में कमी आई है जिसके परिणामस्वरूप बेहतर प्रॉफिटेबिलिटी आई है, बल्कि अधिक ग्राहक भी आए हैं जो इसमें विश्वास करते हैं। एक्टिव कस्टमर बेस 202885 से बढ़कर 281514 हो गया है।
ADIA और DFIs जैसे DFC, IFC और ADB जैसे इन्वेस्टर्स का सपोर्ट पाना सौभाग्य की बात है, जिन्होंने हम पर भरोसा दिखाया है। केवल एक दशक में, हम ₹2,000 करोड़ से कम एयूएम से बढ़कर आज ₹35,499 करोड़ एयूएम हो गए हैं! यह वंचित वर्गों पर ध्यान देने के हमारे कमिटमेंट को दर्शाता है। हमारा वित्तीय प्रदर्शन इंडस्ट्री में बेस्ट में से एक है, और अगले 3 साल में हमारे एयूएम में सालाना आधार पर 20% की औसत वृद्धि देखी जाएगी।
आने वाले वर्षों में, हम अपनी डिजिटल क्षमताओं के उपयोग के साथ अपनी पहुंच का विस्तार करने की योजना बना रहे हैं। इसके साथ ही हम जिन 17 राज्यों में मौजूद है वहां और भीतर तक जाने पर फोकस करेंगे। गुजरात, राजस्थान जैसे राज्य हाउसिंग और उसके बाद लोन की डिमांड की भारी संभावना को प्रदर्शित करते हैं। हम टेक्नोलॉजी इंटरवेंशन्स पर भी काम कर रहे हैं जो हमें टियर 3 और 4 बाजारों के ग्राहकों के लिए कस्टमाइज्ड एप्लीकेशन बनाने में मदद करेगा। इससे ग्राहक अनुभव बेहतर होगा और लोन अप्रूवल में कम समय लगेगा। FY24-25 में, हमारा लक्ष्य अपने दिल्ली एनसीआर रीजन, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में 100 मजबूत ब्रांच नेटवर्क के माध्यम से 38,000 से अधिक नए ग्राहकों को सेवा प्रदान करना है, जिनमें से ज्यादातर फर्स्ट टाइम होम बायर्स हैं।
IIFL होम फाइनेंस लिमिटेड, ने कम आय और आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए अफोर्डेबल और ग्रीन हाउसिंग को सपोर्ट करने के लिए वित्त वर्ष 23-24 में यू.एस. इंटरनेशनल डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन (DFC), इंटरनेशनल फाइनेंस कॉरपोरेशन (IFC) जैसे DFI से भी 450 मिलियन डॉलर से अधिक की फंडिंग हासिल की। यह न केवल आईआईएफएल एचएफएल को एक लीडिंग अफोर्डेबल हाउसिंग कंपनी के रूप में मजबूत करता है, बल्कि सभी के लिए आवास के सरकार के दृष्टिकोण के अनुरूप है। ये वित्तीय समावेशन, पर्यावरण और सामाजिक जिम्मेदारी को बढ़ावा देता है, और भारत में अफोर्डेबल हाउस गैप को संबोधित करने में सहायक होगा।
IIFL होम फाइनेंस लिमिटेड के बारे में
IIFL होम फाइनेंस लिमिटेड, सबसे बड़ी अफोर्डेबल हाउसिंग फाइनेंस कंपनी है, जो 79.59% शेयरहोल्डिंग के साथ IIFL फाइनेंस लिमिटेड की सहायक कंपनी है, जबकि अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी ने 2022 में कंपनी में 20.41% हिस्सेदारी हासिल की थी। 31 दिसंबर 2023 तक, एयूएम 32,927 करोड़ रुपये रहा, जिसमें होम लोन 77% है। इस अवधि के लिए संपत्ति पर रिटर्न (ROA) 4.4% रहा। IIFL होम फाइनेंस लिमिटेड होम लोन प्रदान करने, ईडब्ल्यूएस/एलआईजी वर्गों को गृह स्वामित्व हासिल करने के लिए सशक्त बनाने के लिए समर्पित है। अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी के साथ साझेदारी करते हुए, IIFL होम फाइनेंस लिमिटेड सतत विकास को बढ़ावा देते हुए पर्यावरण-अनुकूल निर्माण प्रथाओं का समर्थन करता है। अत्याधुनिक आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर ने आवेदन से समापन तक की प्रक्रिया सुव्यवस्थित कर दी है जिससे सीमलेस लोन एक्सपीरियंस मिलता है। को-लेंडिंग अरेंजमेंट से इनेबल कंपनी का एसेट-लाइट मॉडल पूरे भारत में डीपर मार्केट में उनकी पहुंच का विस्तार करने की अनुमति देता है। आईआईएफएल होम फाइनेंस लिमिटेड होम फाइनेंसिंग से भी आगे जाता है। वे एक समय में एक अफोर्डेबल होम, एक टिकाऊ और समावेशी भविष्य के निर्माण में योगदान देते हैं।

Related Articles

Back to top button